विवाहिता ने ससुराल पक्ष पर दहेज प्रताड़ना, झूठे केस में फंसाने की साजिश रचने व मारपीट कर जान से मारने की धमकी के लगाए आरोप 

0
52

करनाल || गांव ढाचर की एक विवाहिता ने ससुराल पक्ष पर दहेज प्रताड़ना, हाथ की उंगली तोड़कर झूठे केस में फंसाने की साजिश रचने व मारपीट कर जान से मारने की धमकी के आरोप लगाए हैं। पीड़िता ने आरोपी का मेडिकल करने वाले डॉक्टर पर भी मिलीभगत के आरोप लगाए है। पुलिस ने शिकायत के आधार पर दो लोगों को नामजद कर कुछ अन्य के खिलाफ मामला दर्ज किया है।

पीड़िता अमरजीत कौर ने शिकायत में बताया है कि उसकी शादी गुरजंट सिंह के साथ साल 2018 में सिख रीति रिवाज के अनुसार हुई थी। शादी में उसके माता-पिता ने अपनी हैसियत से बढ़कर दान-दहेज दिया था और पति की मांग के अनुसार क्रेटा कार, बुलेट मोटरसाइकिल व करीब 25 तोला सोना दिया था। ससुराल वालों ने 10 लाख की डिमांड करते हुए उसे मायके भेज दिया। पैसों का इंतजाम न होने की वजह से 29 मई को वह दोबारा अपने ससुराल आ गई।

वह अपनी सहेली और चचेरे भाई के साथ अपनी ससुराल वापस आई तो ससुराल वालों ने कहा कि पैसे कहां हैं, उसने कहा कि अभी मेरे पिता से इतनी बड़ी रकम का इंतजाम नहीं हुआ है, तो इस बात पर सभी भड़क गए और कहने लगे कि इस को जान से मार कर खत्म कर देते हैं और मारपीट करने लगे। जबरदस्ती उसका मोबाइल और 20 हजार भी छीन लिए।

उसने किसी तरह से अपनी जान बचाकर किसी अन्य व्यक्ति के फोन से डायल 112 फोन करके पुलिस को बुलाया। पुलिस ने आकर उसे आरोपियों से बचाया और उसे थाना मुनक लेकर आ गए। जिसकी उसने पुलिस थाना में शिकायत दी और उसके बाद पुलिस ने उसे घर भेज दिया।

पीड़िता ने बताया है कि अगले दिन पुलिस ने फोन करके उसे बताया कि आपके पति ने उसके खिलाफ मारपीट करके उंगली तोड़ने की शिकायत दी है और इसके कुछ दिन बाद उनके ही किसी जानकार ने मुझे एक वीडियो भेजी। जिसमें कह रहे हैं कि इन्हें झूठे केस में फंसाने के लिए पानीपत के डॉक्टर को 20 हजार रुपए देकर गुरजन्ट सिंह की उंगली तुड़वाई है और इसका इल्जाम अमरजीत कौर व उसकी सहेली व चचेरे भाई पर लगा दिया है।

पुलिस ने भी जांच के दौरान पाया कि आरोपियों द्वारा उस पर, उसकी सहेली व चचेरे भाई के खिलाफ लगाए गए आरोप असत्य हैं और इसकी रिपोर्ट बनाकर अदालत में भेज दी है, परंतु पुलिस ने सिर्फ आरोपी गुरजंट सिंह व उसके पिता के खिलाफ ही इस मामले में धारा 182 आई.पी.सी. के तहत कार्रवाई की है परंतु डॉक्टर व अन्य जो इस साजिश में शामिल थे उनके खिलाफ कोई कानूनी कार्रवाई नहीं की और मुकदमा में अन्य गंभीर धाराएं भी इजाद की है। पुलिस ने पति गुरजंट निवासी गांव निवाली व मेजर सिंह निवासी कुताना एवं अन्य के खिलाफ मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

आचार्य संदीपन शास्त्री व आचार्य प्रदीप शास्त्री ने आर्य समाज के प्रधान धर्मराज गांधी के साथ राजकीय माडल संस्कृति  प्राथमिक स्कूल नन्हेडा का औचक निरीक्षण किया ।