भाजपा-जजपा गठबंधन सरकार प्रदेश के लाखों गरीब परिवारों के राशन को डकारने का काम कर रही है :- मेवा सिंह

0
35
बाबैन (रवि कुमार): भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के नेतृत्व में चल रहे हाथ से हाथ जोड़ो अभियान के तहत लाडवा विधायक मेवा सिंह ने बाबैन क्षेत्र के गांव चंदपुरा, मडोखरा, सुजरा, बीड़ सुजरा, डीग, कंदोली, खिडक़ी विरान, पटाकमाजरा व कालवा माजरी के गांवों का दौरा किया। लाडवा विधायक मेवा सिंह ने गांव मडोखरा में ग्रमीणों को संबोधित करते हुए कहा कि कि आज किसान, मजदूर, कर्मचारी से लेकर पंच-सरपंच, प्रदेश का हर वर्ग बीजेपी-जेजेपी के खिलाफ आंदोलनरत है। हर महीने किसी ना किसी वर्ग पर लाठीचार्ज की खबरें आती रहती हैं। इससे स्पष्ट है कि इस सरकार से जनता का मोहभंग हो चुका है और यह सरकार उनकी समस्याओं का समाधान करने में पूरी तरह नाकाम है। मेवा सिंह ने बताया कि कांग्रेस की हरियाणा में सरकार बनने पर बुजुर्गों को 6000 पेंशन और जनता को 300 यूनिट तक मुफ्त बिजली देने का भी फैसला लिया है। कांग्रेस कार्यकाल के दौरान शुरू की गई राइट टू फूड जैसी बहुत सारी कल्याणकारी योजनाओं को फिर शुरू किया जाएगा। ऐसी योजनाओं के चलते उस वक्त हरियाणा प्रति व्यक्ति आय, प्रति व्यक्ति निवेश और विकास के तमाम पैमानों पर नंबर वन था। मेवा सिंह ने कहा कि भाजपा-जजपा गठबंधन सरकार प्रदेश के लाखों गरीब परिवारों के राशन को डकारने का षड्यंत्र रच रही है। प्रदेश के 80 प्रतिशत से अधिक गुलाबी व पीले कार्ड धारक परिवारों को अभी तक फरवरी महीने का राशन नहीं मिल पाया है। वहीं परिवार पहचान पत्र को परिवार परेशान पत्र बताते हुए उन्होंने कहा कि इससे लोगों को फायदा होने की वजह परेशानियां हो रही हैं। परिवार पहचान पत्र में गलत जानकारियां डाल दी गई है, जिनका कोई सरकार के द्वारा सर्वे नहीं किया गया। पीपीपी में जिंदा व्यक्ति को मृत दिखाया जाता है, तो मृत को जिंदा दिखा दिया जाता है। गरीबों की आमदनी को ज्यादा दिखाकर उनसे सरकारी योजनाओं के तहत मिलने वाले लाभ को छीना जा रहा है। पीपीपी की मार से प्रदेश की आधी से अधिक जनता परेशान है। उन्होंने कहा कि सरकार केवल आंकड़ों के आधार पर दुनिया को दिखाना चाहती है, जबकि लोगों को सरकार की योजनाओं से वंचित होना पड़ रहा है। सरकार की इस परिवार पहचान पत्र योजना से लोग प्रताडि़त हो रहे हैं। इस मौके पर कांग्रेस के पूर्व ब्लाक प्रधान जयपाल पांचाल, संजीव भूखड़ी, युवा कांग्रेस के हल्का प्रधान रोहित शर्मा, पूर्व सरपंच जसंवत सिंह, गुरपाल सिंह, पडित राजेश कौशिक, जरनैल सिंह, केहर सिंह, गुरमीत सिंह, रणधीर सिंह, बूटा सिंह, राजू व अन्य गणमान्य व्यक्ति मौजद रहे।