हरियाणा में हुए दंगों के अपराधियों को मिले कठोर सजा : स्वामी कैलाशपुरी

0
29

ज्ञानव्यापी को लेकर यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यानाथ के कथन बिल्कुल सत्य
करनाल विजय काम्बोज ||

महाकाल भैरव अखाड़ा के सुप्रीमो स्वामी कैलाशपुरी जी महाराज ने आज कहा कि हरियाणा में हुए दंगों के अपराधियों को कठोर सजा मिलनी चाहिए। उन्होंने कहा कि कुछ लोग जात पात के नाम पर दंगों की आड में जो साजिश रच रहे हैं उन्हें कतई न बख्शा जाए। उन्होंने हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल के कार्यो की तारीफ करते हुए कहा कि जिस साजिश के तहत दंगों को हवा दी गई थी। उससे बडी अनहोनी हो सकती थी लेकिन हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल की सूझबूझ और उनकी कार्यप्रणाली ने दंगों की आग को भडकने से रोका। जिससे अब माहौल शांत हो पाया हे। उन्होंने मुख्यमंत्री मनोहर लाल को संत करार देते हुए कहा कि मुख्यमंत्री मनोहर लाल निष्काम भाव से हरियाणा की जनता की सेवा में जुटे हैं। लेकिन कुछ लोग साजिश करके तथा जात पात के नाम पर दंगों को भडकाकर हरियाणा का माहोल खराब करना चाहते हैं। ऐसे अपराधियों को कठोर दंड दिए जाने की जरूरत है। ज्ञानव्यापी को लेकर स्वामी कैलाशपुरी जी महाराज ने कहा कि एक इंटरव्यू के दौरान उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ ने जो विचार प्रकट किए हैं वह बिल्कुल वाजिब हैं। यूपी के मुख्यमंत्री का कथन बिल्कुल सही है कि यदि मस्जिद में भगवान शिव के अंश मौजूद हैं तो फिर वो कहां से आए। ऐसे में मुख्यमंत्री का यह सुझाव कि इस समुदाय को ऐतिहासिक भूल मानते हुए सच को स्वीकार कर लेना चाहिए। उन्होंने कहा कि भगवान शिव शंकर केवल एक देवता ही नहीं है बल्कि समूची सृष्टि और ब्रह्मांड का आधार हैं। वह जर्रे जर्रे में मौजूद हैं। उन्होंने याद दिलाया कि जब जब धरती पर रहने वाले लोगों ने प्राकृतिक से छेडछाड की है। तो भगवान शिव ने अपना रौद्र रूप भी दिखाया है। ऐसे में मानव को सबक लेने की जरूरत है। स्वामी कैलाशपुरी महाराज ने कहा कि देश के इसरो वैज्ञानिकों ने जिस चंद्रयान 3 को चांद पर भेजा है वह सफलतापूर्वक चांद पर उतरेगा और भारत अंतरिक्ष में अपनी विजय पताका फहराएगा। भारत विश्व का पहला देश बनेगा जो चांद के दक्षिण हिस्से में अपना चंद्रयान उतारेगा। स्वामी केलाशपुरी महाराज ने इसरो के वैज्ञानिकों से संयम से काम लेने का परामर्श देते हुए कहा कि वह घबराएं नहीं क्योंकि उनका प्रयोग पूरी तरह से सफल होने जा रहा है। उन्होंने कहा कि महाराष्ट्र में पिछले दिनों भयानक आपदाएं आई हैं। लेकिन 29 जुलाई के बाद कोई भी आपदा अब महाराष्ट्र में नुकसान नहीं पहुंचा पाएगी। स्वामी कैलाशपुरी महाराज ने कहा कि प्रत्येक इंसान को मानवता, सनातन धर्म और सच्चाई के लिए कार्य करना चाहिए। धरती पर केवल मानव ही मौजूद नहीं हैं बल्कि बहुत सी प्रजातियां मौजूद हैं। इंसान को यह ख्याल रखना चाहिए कि जितना हक उन्हें धरती पर रहने का है उतना ही दूसरी प्रजातियों को भी है। इसलिए इंसान को मानव धर्म निभाना चाहिए और मानवता की मिसाल पेश करनी चाहिए। तभी इंसान का धरती पर रहना सुलभ हो पाएगा।