तंत्र विद्या द्वारा शादी करवाने वाले एक आरोपी को करनाल पुलिस ने किया गिरफ्तार

0
11
मामले में संलिप्त अन्य आरोपियों की गिरफ्तारी व ठगी की रकम बरामद करने के लिए आरोपी को लिया पांच दिन के पुलिस रिमांड पर
करनाल|| जिला पुलिस की स्पेशल यूनिट असंध की टीम द्वारा एक ऐसे आरोपी को गिरफ्तार करने में कामयाबी हासिल की है, जिसने अपने अन्य साथियों के साथ मिलकर तंत्र विद्या के द्वारा लोगों की शादी करवाने व उनका इलाज करने के नाम पर एक महिला से तीस लाख रुपए ठगी की वारदात को अंजाम दिया था। 13 जून 2023 को एसआई ऋषि पाल के नेतृत्व व एएसआई सतीश कुमार की अध्यक्षता में स्पेशल यूनिट असंध की टीम द्वारा आरोपी आबिद पुत्र असरफ वासी गली नंबर 27 न्यू इस्लामनगर जिला मेरठ उत्तर प्रदेश हाल तयोडी जिला गाजियाबाद उत्तर प्रदेश को विश्वसनीय साक्ष्यों के आधार पर आरोपी के गांव से गिरफ्तार किया गया। आरोपी से प्रारंभिक पूछताछ में जांच में खुलासा हुआ कि आरोपी अपने अन्य साथी रिजवान व अजीज मलिक के साथ मिलकर पिछले काफी समय से ठगी की ऐसी वारदातों को अंजाम दे रहा था। आरोपी तंत्र विद्या द्वारा शादी करवाने, इलाज करने व मनचाही इच्छा पूरी करने के विज्ञापन टीवी आदि में प्रकाशित करवाते हैं और लोगों को संपर्क करने के लिए कुछ नंबर विज्ञापन में प्रकाशित करवाते हैं। जब लोग इन नंबरों पर आरोपियों से संपर्क करते हैं तो आरोपी पहले उन लोगों से पैसे मांगते हैं और बाद में काम करने की बात करते हैं। इसी प्रकार आरोपी बहानेबाजी करते हुए उस व्यक्ति से मोटी रकम वसूल लेते हैं। जांच में यह भी खुलासा हुआ कि आरोपी जिन खातों में पैसे जमा करवाते हैं, वह खाते भी फर्जी होते हैं और जो मोबाइल नंबर आरोपियों ने विज्ञापन में दिए होते हैं, वह मोबाइल नंबर भी फर्जी आईडी द्वारा जारी करवाए गए होते हैं।
ऐसी ही एक वारदात के संबंध में जिला करनाल के गांव पाढा की रहने वाली शिकायतकर्ता रामकली ने जुलाई 2022 में पुलिस अधीक्षक कार्यालय करनाल में एक शिकायत दी। जिसमें उसने बताया कि उसका एक लड़का पवन जिसकी उम्र करीब 46 साल है, वह अविवाहित था और बहुत भोला वाला है। एक दिन शिकायतकर्ता ने आरोपियों द्वारा टीवी पर प्रकाशित करवाया गया एक विज्ञापन देखा। जिसमें आरोपियों ने लिखा हुआ था कि वह हर प्रकार की बीमारी का इलाज करते हैं और जिस व्यक्ति की शादी नहीं होती उस व्यक्ति की शादी भी करवाते हैं। जब महिला ने आरोपियों द्वारा दिए गए मोबाइल नंबर पर संपर्क किया तो आरोपियों ने कहा कि आपका काम हो जाएगा और महिला से अपने खाते में ऑनलाइन तीन रुपए ट्रांसफर करवा लिए। ऐसा करते हुए आरोपी ने शिकायतकर्ता से तीस लाख रुपए हड़प लिए। तीस लाख रूपए हड़पने के बाद भी आरोपियों ने ना तो उसके लड़के का इलाज किया और ना ही उसकी शादी करवाई। तीस लाख रूपए हड़पने के बाद भी आरोपी महिला से और ज्यादा रुपयों की डिमांड करने लगे। जिसके बाद महिला को अपने साथ हुई ठगी का पता चला। इस संबंध में शिकायतकर्ता के बयान पर थाना असंध में अज्ञात आरोपियों के खिलाफ धारा 379, 420 आईपीसी के तहत मामला दर्ज किया गया। आरोपी को आज पेश अदालत भर के पांव दिन के पुलिस रिमांड पर लिया गया है। दौराने रिमांड आरोपी से गहनता से पूछताछ की जाएगी व इस वारदात में संलिप्त अन्य आरोपियों को गिरफ्तार किया जाएगा। दौराने रिमांड जांच करके यह भी पता लगाया जाएगा कि आरोपी कब से इस प्रकार की ठगी का काम कर रहे थे और आरोपियों द्वारा अब तक कितने लोगों से कितने रुपए की ठगी की वारदात को अंजाम दिया जा चुका है। इसके बाद मामले का खुलासा किया जाएगा।