साईप्रस भेजने के नाम पर करीब नौ लाख रूप्ये की ठगी करने के मामले में एक आरोपी करनाल पुलिस ने किया गिरफ्तार

0
19
आरोपी के कब्जे से एक लाख रूप्ये की नगदी की गई बरामद
 करनाल|| जिला पुलिस करनाल के थाना तरावडी की टीम द्वारा साईप्रस भेजने के नाम पर करीब नौ लाख रूप्ये की ठगी करने के मामले में एक आरोपी को गिरफ्तार किया गया है। 24 जून 2023 को उप निरीक्षक सुलतान सिंह थाना तरावडी की अध्यक्षता में टीम द्वारा आरोपी अमित पुत्र बलदेव वासी साबहापुर जिला यमुनानगर को तरावडी से गिरफ्तार किया गया। जांच में खुलासा हुआ कि इस वारदात का मुख्य आरोपी नरेन्द्र वासी कैहरवा हैं। जोकि वह आरोपी अमित उपरोक्त का साला है। आरोपी नरेन्द्र ने ही अपनी पत्नी सोनी देवी के माध्यम से पीड़ित पक्ष से सम्पर्क किया और बाकि आरोपियों के खातों में उनसे पैसे डलवाकर अपने पास मंगवा लिए। आरोपी देवेन्द्र पिछले करीब पांच-छह साल से साईप्रस में ही रहा है और बाद में उसकी पत्नी सोनी देवी भी साईप्रस में ही उसके पास चली गई थी। इस मामले में आरोपी अमित ने भी शिकातयकर्ता से देवेन्द्र के कहने पर अपने खाते में पैसे जमा करवाए थे। आरोपी अमित के कब्जे से एक लाख रूप्ये की नगदी बरामद की गई है।
इस वारदात के संबंध में शिकायतकर्ता कोमल वासी शामगढ़ जिला करनाल ने पुलिस अधीक्षक कार्यालय करनाल में एक शिकायत दी। जिसमें उसने बताया कि आरोपियान नरेन्द्र पुत्र जय किशन, सोनी देवी पत्नी नरेन्द्र व जय किशन पुत्र मेहर सिंह वासियान कैहरवा जिला करनाल, अमित पुत्र बलदेव सिंह वासी सहबापुर जिला यमुनानगर व विक्रम पुत्र शेर सिंह वासी शामगढ़ जिला करनाल द्वारा मिलीभगत करके शिकायकर्ता व उसके पति गुलशन को साईप्रस देश भेजने के नाम पर दिसम्बर 2021 से सितम्बर 2022 तक 8,85,024 रूप्ये की धोखाधडी की गई, आरोपियों द्वारा अकेली शिकायतकर्ता का ही वीजा लगवाया गया और उसे साईप्रस देश बुलाकर उसको प्रताड़ित किया गया व कुछ दिन में ही उसे भारत वापिस भेज दिया गया। इस संबंध में आरोपियों के खिलाफ थाना तरावडी में मुकदमा नम्बर 191, 16 मई 2023 धारा 406, 420, 506, 120बी भा.द.स. स इमीग्रेशन एक्ट के तहत मामला दर्ज किया गया। आरोपी को  पेश अदालत करके न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है।