मैडीकल चैकअप कैंप में 100 से अधिक मरीजों की सेहत जांची

0
43

करनाल|| खालसा पंथ के साजना दिवस वैसाखी के शुभ अवसर पर गुरुद्वारा श्री गुरु सिंह सभा, मॉडल टाउन, करनाल में डेंटिस्ट्री डेंटल क्लिनिक, मॉडल टाउन, करनाल के सौजन्य से फ्ऱी मेडिकल कैम्प का आयोजन किया गया। इस विशेष शिविर में दांतों की देख-भाल एवं इलाज सम्बन्धी बहुत से ज़रूरी सुविधाएँ करनाल वासियों को मुफ़्त दी गयी। इस शिविर का उद्देश्य लोगों को अपनी सेहत के बारे में जागरूक करना और उन्हें विभिन्न मेडिकल और डेंटल समस्याओं के बारे में जानकारी देना था। डेंटिस्ट्री डेंटल क्लिनिक से डॉ0 निलिका ने बताया कि “वैसाखी का उत्सव उत्साह, समरसता और एकता की भावना को जागृत करता है। यह त्योहार पुनरुत्थान, पुनर्जन्म और समुदाय को वापसी का समय होता है। इस समय चल रहे कोरोना महामारी के दौरान, अनेक समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है। संभवत: वैसाखी के इस मौके पर हमें एक-दूसरे की मदद करने का संदेश देने की आवश्यकता ज्यादा है। वैसाखी एक ऐसा उत्सव है जो संबंध, एकता और सेवा के संदेश के साथ आता है। हम सभी को एक दूसरे की सेवा करने और अपनी समाज की सेवा करने की ज़रूरत है। इसलिए, हमने डेंटिस्ट्री डेंटल क्लिनिक के सहयोग से इस चिकित्सा शिविर का आयोजन किया है। हमें खुशी है कि हम इस उत्सव के मौके पर गुरुद्वारा प्रबंधक कमिटी, गुरुद्वारा श्री गुरु सिंह सभा, करनाल के सहयोग से लोगों के सेहत का ध्यान रखने में सक्षम रहे हैं। इस शिविर में मुफ्त मौखिक स्वास्थ्य जांच की गई, साथ ही अन्य विशेषज्ञों द्वारा मुफ्त जांच एवं परामर्श किया गया, जैसे कि फिजिशियन, हड्डी रोग विशेषज्ञ, जननी एवं स्त्री रोग विशेषज्ञ। साथ ही, रक्तचाप की मुफ्त जांच, रक्त शर्करा की नि:शुल्क जांच और नियमित दवाओं का वितरण भी नि:शुल्क रूप से किया गया। यह शिविर वैसाखी के शुभ अवसर पर खालसा धर्म के स्थापना के लिए समर्पित है। डॉ0 निलिका ने जन जागरूकता के लिए बताया की स्वस्थ मसूड़े, मजबूत दांत, तटस्थ सांस और साफ जीभ वाला मुंह समग्र अच्छे शारीरिक और मानसिक स्वास्थ्य का संकेत है। मुंह भी मधुमेह सहित कई बीमारियों के लक्षण दिखाने वाले पहले स्थानों में से एक है। मौखिक स्वच्छता की उपेक्षा करना आपके समग्र अस्तित्व को कठिन बना सकता है। यह न केवल दर्द और मौखिक रोगों का कारण बनेगा बल्कि आपके आत्म-सम्मान को भी कम करेगा। अच्छा मौखिक स्वास्थ्य बनाए रखना केवल नियमित मौखिक स्वच्छता प्रथाओं जैसे कि दो बार ब्रश करना, फ्लॉस करना और माउथवॉश का उपयोग करना संभव है।  डेंटिस्ट्री डेंटल क्लिनिक से डॉ0 सोनम ने बताया की मौखिक स्वास्थ्य एक बहुत ही उपेक्षित विषय है। लोगों को दांतों की समस्याओं के बारे में तब तक पता नहीं चलता जब तक कि वे दिखाई न देने लगें। अधिकांश लोग मौखिक स्वच्छता बनाए रखने के महत्व से अनभिज्ञ रहते हैं और फिर बीमारियों से ग्रस्त हो जाते हैं। इस शिविर के माध्यम से गुरुद्वारा श्री गुरु सिंह सभा, मॉडल टाउन, करनाल ने समाज के लोगों के लिए एक बड़ी सेवा प्रदान की है। नि:शुल्क कैम्प में लोगों की काफ़ी रुचि देखने को मिली है एवं कऱीब 300 से अधिक लोगों ने इस कैम्प का फ़ायदा उठाया। इस अवसर पर संत बाबा हरेंदर  सिंह जी, स. अमरजीत सिंह, स. हरप्रीत सिंह, स. जसबीर सिंह, स. परमजीत सिंह, डॉ0 गौरव काम्बोज, डॉ0 पुलकित, डॉ0 स्तुति, डॉ0 काजल, सौरभ मल्होत्रा, पुनीत बंसल, अमनदीप पुनिया, लिशा, रोहित अन्य मौजूद रहे।