किसान वेलफेयर कल्ब द्वारा किसान जागरूकता कार्यक्रम का आयोजन

0
61

इन्द्री(विजय काम्बोज )  खंड विकास एवं पंचायत अधिकारी कार्यालय के सभागार में किसान वेलफेयर कल्ब द्वारा किसान जागरूकता कार्यक्रम का आयोजन किया गया। इस कार्यक्रम में कृषि, बागवानी विभाग के अलावा फसलों में प्रयोग होने वाली दवाईयों की कम्पनी एफएमसी के अधिकारियों ने भाग लिया और किसानों को मोटे अनाज के लाभ एवं फसलों को कीडों से बचाव के बारे विस्तार से जानकारी दी। किसान जागरूकता शिविर में विधायक राम कुमार ने बतौर मुख्यातिथि शिरकत की तथा कार्यक्रम की अध्यक्षता किसान वेलफेयर कल्ब के प्रधान चरण सिंह मढ़ान ने की। किसान जागरूकता कार्यक्रम में किसानों को जागरूक करते हुए विधायक रामकुमार कश्यप ने कहा कि वर्ष 2023 को विश्व स्तर पर अन्तर्राष्टï्रीय मोटा अनाज वर्ष 2023* के रूप में मनाया जा रहा है। उन्होंने बताया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में भारत के इस प्रयास के पीछे भारत को मोटे अनाज का वैश्विक केंद्र बनाना और अंतर्राष्ट्रीय मोटा अनाज वर्ष 2023 को ‘जन आंदोलनÓ बनाने की सोच है।
विधायक रामकुमार कश्यप नेे जागरूकता कार्यक्रम में बताया कि हमारा खान-पान व रहन-सहन बहुत ही दूषित हो गया है और खान-पान की वजह से हमें आज अनेक भंयकर बिमारियों का सामना करना पड़ रहा है। यदि हमें अपने स्वास्थ्य को ठीक रखना है तो हमें अपने खान-पान में परिवर्तन करना होगा। तभी इन बीमारियों से बचा जा सकता है। उन्होंने कहा कि खान-पान के कारण हम बीमारियों का शिकार होते है जिसकी वजह से हमारी आमदनी का अधिकांश हिस्सा खर्च हो जाता हैं। उन्होंने किसानों को बताया कि पिछले 50 साल पहले हम मोटे अनाजों का अधिकतर प्रयोग करते थे, तब हमारा स्वास्थ्य ठीक रहता था और हमें बीमारियों का सामना भी नहीं करना पड़ता था। उन्होंने सभी लोगों से आह्वïान किया कि यदि हमें भविष्य में स्वयं के साथ-साथ अपने परिवार को स्वस्थ रखना और बीमारियों से बचाना है तो हमें अपने खान-पान में ज्वार, बाजरा, मंडवा, चलाई, चेना, रागी, कंगनी आदि मोटे अनाज को शामिल करना होगा। उन्होंने किसानों को बताया कि मोटे अनाज के आहार करने से हमारा स्वास्थ्य भी ठीक रहता है और मोटे अनाज के आहार के इस्तेमाल से कुपोषण के खिलाफ कारगर हथियार तो डायबिटीज और हाइपरटेंशन सरीखी बीमारियों से भी निजात मिलती है।
किसान जागरूकता कार्यक्रम में खंड कृषि अधिकारी डॉ. अश्वनी कुमार व खंड बागवानी अधिकारी डॉ. गुरदेव भौरिया ने किसानों को अपने अपने विभाग से संबंधित योजनाओं के बारे विस्तार से जानकारी दी और किसानों को मोटे अनाज के लाभ बताए और किसानों को आह्वïान किया कि वे मोटे अनाज के उत्पादन को बढ़ावा दे और अपने खान-पान में मोटे अनाज का अधिक से अधिक प्रयोग करें। किसान जागरूकता कार्यक्रम में एफएमसी कम्पनी की जोनल मार्किटिंग मैनेजर सीमा गुप्ता ने किसानों को फसलों में होने वाली बीमारियों के बचाव के अलावा और फसलों में उपयोग होने वाली दवाईयों के इस्तेमाल के बारे में भी विस्तार से जानकारी दी। इस मौके पर खंड इन्द्री के विभिन्न गांवों के किसानों ने भाग लिया।