किसी भी समाज या देश के विकास के लिए शिक्षा बहुत ही जरूरी भाग है-बीईओं अंजू सरदाना

0
9

इन्द्री विजय काम्बोज ||
राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय में निपुण हरियाणा मिशन के अंतर्गत बाल वाटिका 3 पर कक्षा पहली तथा बालवाटिका के शिक्षकों का छह दिवसीय प्रशिक्षण शिविर आरंभ हुआ।  इस प्रशिक्षण में खंड के लगभग 90 शिक्षकों ने भाग लिया। डाइट से मॉनिटरिंग के लिए आए हुए  सुरेंद्र कौर ने सभी शिक्षकों को मोटिवेट किया और साथ में उन्होंने बताया कि प्रशिक्षण कार्यशाला में 4 से 6 वर्ष की आयु के बीच के बच्चों को प्रारंभिक स्तर के ज्ञान के साथ साथ सामाजिक ज्ञान का बोध  करवाना एवं संबंधित शिक्षण शास्त्र की पूर्ण जानकारी दी जाएगी। खंड शिक्षा अधिकारी अंजू सरदाना  ने कहा कि किसी भी समाज या देश के विकास के लिए शिक्षा बहुत ही जरूरी भाग है। उन्होंने कहा कि  बेहतर तथा सही समय पर दी गई शिक्षा का  ज्यादा महत्व है। छोटे बच्चे जिनके 85 प्रतिशत दिमाग का विकास 5 से 6 साल के बीच ही हो जाता है जो किसी भी बच्चों के समग्र विकास का महत्वपूर्ण वर्ष होते है। बच्चों को खेल के माध्यम से अच्छी शिक्षा तथा बौद्धिक विकास ही मुख्य उद्देश्य है। इस कार्यशाला में प्रशिक्षक के तौर पर युगल किशोर, शैलजा, सुनंदा व निशा कार्य कर रहे हैं। कार्यशाला के प्रबंध में सभी बीआरपी रविंद्र कुमार, धर्मेंद्र सिंह, कविता काम्बोज, पूजा ,रजत, सुखविंदर सिंह ,बारूराम, अनिल आर्य, अंजू मलिक, नीतू ,सविता, मोनिका व रीना शामिल रहे।