बेमौसमी बारिश से किसानों की फसलें बर्बाद होने का खतरा मंडराया किसान चिंतित

0
11

बाबैन (रवि कुमार): बाबैन क्षेत्र में शनिवार को सुबह तेज हवाओं के साथ हुई भारी बारिश से किसानों की गेंहू की फसल को भारी नुक्सान पहुंचा है। जिससे किसानों की मेहनत पानी में बहती नजर आ रही है। वहीं बारिश व तेज हवाओं से किसानों की गेंहू की फसल जमीन पर चादर की तरह बिछ गई है। बहुत से किसानों की गेंहू की फसल अधपक्की हुई है बरसात होने के कारण फसल खराब होने का डर सता रहा है। उधर बारिश से किसानों की गेंहू की फसलों को भी भारी नुक्सान पहुंचा है। बारिश से गेंहू व आलू, सरसों की फसल प्रभवित होने से किसानों को आर्थिक नुक्सान हुआ है। बाबैन क्षेत्र के किसान सतबीर रामपुरा, बब्बू भगवानपुर, बाबा गुरचरण सिंह, तरसेम संघौर, रणबीर सिंह व अन्य किसानों कहना है कि बारिश होने से उनकी गेंहू की फसल जमीन पर गिरने से फसल बर्बाद हो गई है। बहुत से किसानों की गेंहू की फसलें अधपक्क कर तैयार है। जिससे गेंहू की फसलें खराब हालत में पहुंच गई है। ऐसे में बारिश से किसानों की फसले बर्बाद होने से किसानों पर दोहरी मार पडी है। किसानों बताया कि पहले ही किसानों को मंडियों में पहले की आलू व सरसों की फसलों के के औने पौने दाम मिल रहे थे। ऐसे में बारिश से किसानों की फसले बर्बाद होने से किसानों पर दोहरी मार पडी है। किसानों ने बताया कि गेंहू की फसल जमीन पर गिरने के कारण उत्पादन व भूसे में कमी आएगी जिससे किसान को भारी नुक्सान है। किसानों ने बताया कि गेंहू की फसल निचे गिरने के कारण भूसा कम बनता है और गेेंहू का दाना भी कम मोटा होता वह बारीक रह जाता है। किसानों ने बताया कि किसान पिछले साल से नुक्सान की तरफ जा रहा है।