नगर निगम ने प्रॉपर्टी टैक्स कॉलैक्शन में अब तक का तोड़ा रिकॉर्ड

0
54

नगर निगम ने प्रॉपर्टी टैक्स कॉलैक्शन में अब तक का तोड़ा रिकॉर्ड, वित्त वर्ष समाप्ति का समय शेष रहते निगम के खजाने में अब तक जमा हुए 30 करोड़ 20 लाख रूपये,

हरियाणा पुलिस अकादमी ने 26 करोड़ 35 लाख रूपये बकाया सम्पत्ति कर का किया भुगतान-अजय सिंह तोमर, निगमायुक्त।
  करनाल       चालू वित्त वर्ष के अंत तक कुल जमा में ओर इजाफा होने की उम्मीद।
 नगर निगम आयुक्त अजय सिंह तोमर के कारगर प्रयासों से हरियाणा पुलिस अकादमी, मधुबन ने गुरूवार को 26 करोड़ 35 लाख रूपये निगम के खाते में जमा करवाएं हैं। इस रकम से निगम के खजाने में अब तक 30 करोड़ 20 लाख रूपये सम्पत्ति कर के रूप में जमा हो गए हैं। इसी प्रकार जिला परिषद की ओर से भी अब तक के बकाया सम्पत्ति कर की 1 लाख 55 हजार रूपये की राशि नगर निगम के खजाने में जमा करवा दी गई है। खास यह है कि इस उपलब्धि ने अब तक के सभी रिकॉर्ड तोड़ दिए हैं।
यही नहीं इससे बकायादारों की श्रेणी में चल रहे अन्य विभागों से भी सम्पत्ति कर के मिलने की उम्मीद प्रबल हो गई है, क्योंकि वित्तीय वर्ष की समाप्ति में अभी पौने दो महीने का समय शेष है।
हरियाणा पुलिस अकादमी के निदेशक का किया धन्यवाद- हरियाणा पुलिस अकादमी की ओर से बकाया प्रॉपर्टी टैक्स के 26 करोड़ 35 लाख रूपये की बड़ी रकम एकमुश्त नगर निगम के खजाने में जमा करवाने पर, निगम आयुक्त ने उक्त अकादमी के निदेशक को धन्यवाद दिया है। इसके साथ-साथ बकायादारों की श्रेणी में चल रहे अन्य विभागों से भी अपील की है कि वे अपना प्रॉपर्टी टैक्स निगम के खजाने में जमा करवाएं।
निगम आयुक्त ने बताया कि विभिन्न सरकारी विभागों को बकाया सम्पत्ति कर जमा करवाने के लिए नोटिस के साथ-साथ अर्ध सरकारी पत्र भी प्रेषित किए गए हैं। उसी का परिणाम है कि हरियाणा पुलिस अकादमी ने 9 फरवरी 2023 को, गत 2010 से अब तक समस्त बकाया सम्पत्ति कर 26 करोड़ 35 लाख रूपये और जिला परिषद ने 1 लाख 55 हजार रूपये निगम के खजाने में जमा करवाया है। लेकिन अब भी राज्य सरकार के 32 और केन्द्र सरकार के करीब 14 विभाग ऐसे हैं, जो बकायादारों की श्रेणी में हैं, इसके लिए उनसे बकाया सम्पत्ति कर को निगम के खजाने में जमा करवाने के लिए अनुरोध किया गया है।
बीते वर्षों के प्रॉपर्टी टैक्स कॉलैक्शन के यह हैं आंकड़े- बता दें कि नगर निगम के खजाने में वर्ष 2016-17 में 13 करोड़ 24 लाख रूपये, 2017-18 में 8 करोड़ 19 लाख, 2018-19 में 12 करोड़ 57 लाख, 2019-20 में 16 करोड़ 94 लाख, 2020-21 में 19 करोड़ 50 लाख, वर्ष 2021-22 में 20 करोड़ 50 लाख और चालू वित्त वर्ष में अब तक 30 करोड़ 20 लाख रूपये प्रॉपर्टी टैक्स के रूप में जमा हुए हैं।
सम्पत्ति कर के भुगतान के लिए सरकार भी उदार- उन्होंने बताया कि सम्पत्ति कर को जमा करवाने के लिए सरकार ने भी अपनी उदारता दिखाई। इसे लेकर पहले अगस्त से दिसम्बर तक, सम्पूर्ण ब्याज माफी और फिर 1 जनवरी से 31 जनवरी तक 50 प्रतिशत ब्याज माफी का एलान कर नागरिकों को राहत देने का काम किया। काफी नागरिकों ने इसका फायदा उठाकर नगर निगम को बकाया का भुगतान किया। विशेष बात यह है कि इस अवधि के दौरान बकाया जमा करवाने वाले नागरिकों ने डेढ करोड़ रूपये की छूट का लाभ उठाया।
31 मार्च 2023 तक जमा करवा सकते हैं प्रॉपर्टी टैक्स- उन्होंने बताया कि जिन नागरिकों ने अब तक अपना चालू वित्त वर्ष का या उससे पहले का प्रॉपर्टी टैक्स नगर निगम में जमा नहीं करवाया है, वह आगामी 31 मार्च 2023 तक जमा करवा सकते हैं। इसके लिए निगम के नागरिक सुविधा केन्द्र की सभी विंडो पर और सभी कार्य दिवसों में टैक्स राशि को कैश के जरिए जमा करवा सकते हैं। इसके अलावा नागरिक ऑनलाई सुविधा से ulbhryndc.org साईट पर जाकर भी प्रॉपर्टी टैक्स जमा करवा सकते हैं। उन्होंने यह भी कहा है कि टैक्स जमा करवाने के लिए नागरिक नोटिस का इंतजार न करें, अपितु उक्त साईट पर ही प्रॉपर्टी टैक्स ऑनलाईन चैक करके उसका तुरंत भुगतान कर दें।